Posts

Showing posts from October, 2012

AIPWA Team Visited Haryana

पिछले महीने भर में देश की राजधानी के पड़ोसी हरियाणा राज्य में घटी बलात्कार की घटनाओं और उसके बाद तमाम तथाकथित जिम्मेदार राजनीतिक और सरकारी मोर्चों पर डटे सत्ता के ठेकेदारों के इन घटनाओं पर भयानक रूप से अमानवीय बयान अनगिनत सवालों पर तत्काल रूप से सोचने को विवश करते हैं। बलात्कार की संख्या तो चिंता का सबब है ही पर साथ ही इन पर सत्ता और समाज के विविध कोनों से आता इस कदर प्रतिक्रियावादी रवैया 65 वर्षों के लोकतंत्र के हासिल पर ही प्रश्नचिन्ह लगाते हैं। हाल ही में अखिल भारतीय प्रगतिशील महिला एसोसिएशन की एक टीम ने इन घटनाओं के मद्देनजर हरियाणा का दौरा किया।
A team of leaders and activists of AIPWA and AISA visited Haryana on 12-13 October, to investigate the alarming spate of rape cases in the state. The team comprised of AIPWA National Secretary Kavita Krishnan, JNU Students’ Union Councillor Anubhuti Bara, and AISA activists from Delhi University, Prerna and Saurabh Naruka. The team was accompanied by Comrade Prem Singh Gehlawat, in-charge of the CPI(ML) for Haryana.
Haryana has witnessed …

6th State Conference of UP AIPWA, 29/09/2012

Image
सरकारों के महिला विरोधी रुख के खिलाफ प्रदेश स्तरीय विशाल रैली ऐपवा ने अपने 6ठे राज्य सम्मेलन की शुरुआत प्रदेश में बढ़ते महिला उत्पीड़न के खिलाफ और केंद्र और राज्य में बैठी सरकारों के महिला विरोधी नीतियों के खिलाफ अपने गुस्से का इजहार करते हुए एक रैली के रुप में की। यह रैली वाराणसी कैंट रेलवे स्टेशन से सम्मेलन स्थल नगर -नगम हॉल, सिगरा तक निकाली गई। रैली में 16 जिलों से 500 से अधिक ऐपवा की महिलाओं ने हिस्सा लिया। रैली का नेतृत्व ऐपवा की राष्ट्रीय महिसचिव मीना तिवारी ने किया। रैली में महिलाओं का केंद्रीय नारा था- नहीं सहेंगे भेदभाव हिंसा और अपमान, लड़कर लेंगे आजादी रोजगार और सम्मान। रैली के समापन के पश्चात नगर-निगम हॉल सिगरा में आयोजित उदघाटन सत्र में मुख्य वक्ता के तौर पर बोलते हुए ऐपवा की राष्ट्रीय महासचिव मीना तिवारी ने कहा कि महिलाओं के बुनियादी सवालों पर भले ही राज्य व केंद्र के बीच सत्ता का खेल चल रहा हो पर यह बात साफ है कि दोनों के बीच पितृसत्तात्मक एकता कायम है। यह व्यवस्थाएं महिलाओं को न्याय दिलाने, उनकी हिफाजत करने और उन्हें रोजगार दिलाने के संबंध में अक्षम सबित हुई हैं…

AIPWA Condemns Sexist Remark by Union Minister

Image